कोलाइडी विलयन के अनुप्रयोग, उपयोग | कोलाइड के उदाहरण

कोलाइडी विलयन के अनुप्रयोग तो हर किताब और क्वेश्चन बैंक में हैं। लेकिन कोलाइड के उदाहरण नहीं दिए हैं। कोलाइड के उदाहरण सिर्फ एनसीईआरटी बुक में दिए हैं। यही देख कर हमने कोलाइड के उदाहरण और अनुप्रयोग पर यह एक स्पेशल लेख तैयार किया है।

कोलाइड विलयन के अनुप्रयोग (उपयोग)

1. औषधियों में
अधिकांश औषधियां कोलाइडी प्रकृति की होती हैं। यह औषधियां अधिक प्रभावकारी होती है। एवं यह मानव शरीर के द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाती हैं। जैसे आंख का लोशन-आर्जिराॅल एक सिल्वर कोलाइड है। दूधिया मैग्नीशिया एक इमल्शन है। इसका उपयोग पेट में गड़बड़ी को दूर करने में होता है। काॅड लीवर तेल, एंटीबायोटिक्स आदि औषधियां कोलाइड प्रकृति की होती हैं।

2. पेयजल का शुद्धिकरण
प्राकृतिक स्रोतों से प्राप्त जल में अनेक प्रकार की अशुद्धियां उपस्थित होती हैं जो जल में कोलाइड कण के रूप में रहती हैं। यह कोलाइडी कण ऋणावेशित होते हैं। इस पानी को साफ करने के लिए इसमें फिटकरी (K2SO4•Al2 (SO4)2•24H2O) का प्रयोग किया जाता है। जब फिटकरी को जल में मिलाया जाता है तो एल्युमीनियम आयन (Al3+) जल में आयनित हो जाती हैं। तथा अशुद्ध कोलाइडी कणों का अवक्षेपण कर देते हैं जिससे अशुद्धियां नीचे बैठ जाती हैं और पानी पीने योग्य बन जाता है।

3. धुएं का अवक्षेपण
फैक्ट्रियों, कारखानों तथा चीनी मिलों आदि चिमनियों से निकलने वाले धुएं में कार्बन के कण उपस्थित रहते हैं। जो वायु को दूषित कर देते हैं। यह धुआं कार्बन के कणों का कोलाइडी विलयन होता है। धुएं का अवक्षेपण करने के लिए इसे कॉट्रिल अवक्षेपक से गुजारते हैं जिससे कोलाइडी कार्बन कण चिमनी पर ही रह जाते हैं एवं कार्बन से मुक्त धुआं बाहर निकल जाता है।

अन्य अनुप्रयोग
4. रबड़ के स्कंदन में
5. साबुन एवं अपमार्जकों के शोधन क्रिया में
6. चर्म शोधन में
7. रक्त के स्कंदन में
8. फोटोग्राफी प्लेटो एवं फिल्मों में

कोलाइड के उदाहरण

1. आकाश का नीला रंग
वायुमंडल में उपस्थित धूल के कण वायु के साथ मिलकर कोलाइडी विलयन बनाते हैं तथा यह कोलाइडी कण प्रकाश के नीले रंग का प्रकीर्णन करते हैं जिससे हमें आकाश का रंग नीला प्रतीत होता है।

2. खाद्य सामग्री
दूध, मक्खन, फलों का रस, आइसक्रीम आदि की प्रकृति कोलाइडी होती है।

3. डेल्टा बनना
नदियों के जल में धूल तथा रेत के कण मिलने से यह जल ऋणावेशित कोलाइड बन जाता है। समुद्र के जल में अनेकों प्रकार के विद्युत अपघट्य होते हैं। जब नदी का जल समुद्र के जल के संपर्क में आता है तो यह विद्युत अपघट्य नदी के जल को स्कंदित कर देते हैं। जिससे रेत के कण जमा होने लगते हैं और इनके मिलन बिंदु पर रेत इकट्ठा हो जाती है जिसे डेल्टा कहते हैं।
4. रुधिर
5. कोहरा, धुंध एवं बरसात

Note –
यह जो कोलाइडी विलयन के उदाहरण किए गए हैं। यह कोलाइड के अनुप्रयोग ही हैं। क्योंकि हम यहां एनसीईआरटी बुक के अनुसार अध्ययन कर रहे हैं इसलिए एनसीईआरटी में यह उदाहरण और अनुप्रयोग अलग-अलग दिए हैं।
जिस कारण हमने भी यह अलग अलग करें हैं अगर कोई उदाहरण आये तो एक उदाहरण कर देना एवं अनुप्रयोग तो हैं ही सभी। धन्यवाद


शेयर करें…

4 thoughts on “कोलाइडी विलयन के अनुप्रयोग, उपयोग | कोलाइड के उदाहरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *