f ब्लॉक के तत्व किसे कहते हैं यह कितने श्रेणियों में बांटा गया है नाम लिखिए

f ब्लॉक के तत्व

वह तत्व जिनमें अंतिम इलेक्ट्रॉन (n – 2)f उपकोश में प्रवेश करता है। उन तत्वों को f ब्लॉक के तत्व (F block elements in Hindi) कहते हैं। इन तत्वों को अंतःसंक्रमण तत्व भी कहते हैं।

f ब्लॉक के तत्वों को दो श्रेणियों में बांटा गया है।
(1) 4f श्रेणी (लैंथेनाइड)
(2) 5f श्रेणी (एक्टिनाइड)

1. लैंथेनाइड

लैंथेनाइड में सीरियम (Ce) से ल्यूटेशियम (Lu) तक 14 तत्व होते हैं। यह तत्व अधिक क्रियाशील होते हैं। यह मुक्त अवस्था में न होकर संयुक्त अवस्था में पाए जाते हैं। यह तत्व आवर्त सारणी में लेंथैनम को अनुसरण करते हैं। तथा उससे भौतिक व रासायनिक गुणों में समानता प्रकट करते हैं। इसलिए इन्हें लैंथेनाइड (Lanthanoid in Hindi) कहते हैं।

लैंथेनाइड का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास

तत्वपरमाणु क्रमांकइलेक्ट्रॉनिक विन्यास
लेंथैनम (La)57[Xe] 4f0 5d1 6s2
सीरियम (Ce)58[Xe] 4f1 5d1 6s2
प्रसिओडायनियम (Pr)59[Xe] 4f3 5d0 6s2
निओडायनियम (Nd)60[Xe] 4f4 5d0 6s2
प्रोमीथियम (Pm)61[Xe] 4f5 5d0 6s2
समेरियम (Sm)62[Xe] 4f6 5d0 6s2
यूरोवियम (Eu)63[Xe] 4f7 5d0 6s2
गैडोलिनियम (Gd)64[Xe] 4f7 5d1 6s2
टर्बियम (Tb)65[Xe] 4f9 5d0 6s2
डिस्प्रोशियम (Dy)66[Xe] 4f10 5d0 6s2
हाॅलमियम (Ho)67[Xe] 4f11 5d0 6s2
अरबियन (Er)68[Xe] 4f12 5d0 6s2
थूलियम (Tm)69[Xe] 4f13 5d0 6s2
यट्वियम (Yb)70[Xe] 4f14 5d0 6s2
ल्यूटेशियम (Lu)71[Xe] 4f14 5d1 6s2
ऑक्सीकरण अवस्था

लैंथेनाइड की सामान्य ऑक्सीकरण अवस्था +3 होती है। इसके अतिरिक्त यह +2 तथा +4 ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाते हैं।

लैंथेनाइड आकुंचन

लैंथेनाइड की आयनिक त्रिज्याएं, परमाणु क्रमांक बढ़ने के साथ-साथ घटती हैं। एवं यह ज्ञात किया गया की, नाभिकीय आवेश बढ़ने के कारण La से Lu तक परमाणु व आयनिक त्रिज्या में कमी आती है। इस घटना को लैंथेनाइड आकुंचन कहते हैं।

लैंथेनाइड के गुण

सभी लैंथेनाइड चांदी की तरह श्वेत तथा नरम धातुएं हैं। एवं वायु के संपर्क में आने पर यह अपनी चमक खो देते हैं।
यह नाइट्रोजन से क्रिया के फलस्वरुप नाइट्राइट बनाती हैं।
यह शीघ्रता से गर्म जल में घुलकर हाइड्रोजन उत्सर्जित करती हैं।
इनका गलनांक 1000 से 1200K के बीच होता है।

2. एक्टिनाइड

एक्टिनाइड में थोरियम (Th) से लाॅरेंसियम (Lr) तक 14 तत्व होते हैं। ये तत्व रेडियो सक्रिय होते हैं। यह तत्व आवर्त सारणी में एक्टिनियम को अनुसरण करते हैं। तथा उससे भौतिक व रासायनिक गुणों में समानता प्रकट करते हैं। इसलिए इन्हें एक्टिनाइड (Actinides in Hindi) कहते हैं। इसका इलेक्ट्रॉनिक विन्यास [Rn] 5f0 6d0-1 7s2 होता है।

एक्टिनाइड का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास

तत्वपरमाणु क्रमांकइलेक्ट्रॉनिक विन्यास
एक्टिनियम (Ac)89[Rn] 5f0 6d1 7s2
थोरियम (Th)90[Rn] 5f0 6d2 7s2
प्रोटेक्टिनियम (Pa)91[Rn] 5f1 6d1 7s2
यूरेनियम (U)92[Rn] 5f2 6d1 7s2
नेपच्यूनियम (Np)93[Rn] 5f3 6d1 7s2
प्लूटोनियम (Pu)94[Rn] 5f4 6d1 7s2
एमोरिशियस (Am)95[Rn] 5f6 6d0 7s2
क्यूरियम (Cm)96[Rn] 5f7 6d0 7s2
बर्केलियम (Bk)97[Rn] 5f7 6d1 7s2
केलिफोर्नियम (Cf)98[Rn] 5f9 6d0 7s2
आइन्सटीनियम (Es)99[Rn] 5f10 6d0 7s2
फर्मियम (Fm)100[Rn] 5f11 6d0 7s2
मेंडेलिवियम (Md)101[Rn] 5f12 6d0 7s2
नोबेलियम (No)102[Rn] 5f13 6d0 7s2
लाॅरेंसियम (Lr)103[Rn] 5f14 6d1 7s2
ऑक्सीकरण अवस्था

सामान्यतः एक्टिनाइड +3 ऑक्सीकरण अवस्था प्रदर्शित करते हैं। परमाणु क्रमांक बढ़ने के साथ-साथ इनका स्थायित्व भी बढ़ता जाता है। परंतु यह ऑक्सीकरण अवस्था कुछ तत्वों में +4 , +5 , +6 तथा +7 तक पहुंच जाती है फिर इसके बाद घटने लगती है।

एक्टिनाइड के गुण

  1. सभी एक्टिनाइड प्रबल अपचायक होते हैं।
  2. एक्टिनाइडो में लैंथेनाइडो की तुलना में जटिल यौगिक बनाने की प्रवृत्ति अधिक पायी जाती है।
  3. एक्टिनाइड के गलनांक और क्वथनांक अधिक होते हैं।
  4. सभी एक्टिनाइड तत्व रेडियोएक्टिव प्रकृति के होते हैं।

लैंथेनाइड तथा एक्टिनाइड में अंतर

  1. लैंथेनाइड के यौगिक कम क्षारीय होते हैं। जबकि एक्टिनाइड के यौगिक अधिक क्षारीय होते हैं।
  2. प्रोमिथियम को छोड़कर लैंथेनाइड में रेडियोएक्टिव नहीं होते हैं जबकि सभी एक्टिनाइड रेडियोएक्टिव होते हैं।
  3. लैंथेनाइड में जटिल यौगिक बनाने की प्रवृत्ति नहीं होती है जबकि एक्टिनाइड में जटिल यौगिक बनाने की प्रवृत्ति अधिक होती है।
  4. लैंथेनाइड सामान्यतः +3 ऑक्सीकरण अवस्था दर्शाते हैं इसके अतिरिक्त +2 व +4 भी प्रदर्शित करते हैं। जबकि एक्टिनाइड सामान्यतः +3 ऑक्सीकरण अवस्था के साथ-साथ +2 , +3 , +4 , +5 , +6 तथा +7 तक प्रदर्शित करते हैं।

शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *