अंतरा आणविक बल क्या है यह कितने प्रकार के होते हैं, अंतरा अणुक बल

अंतरा आणविक बल

अणुओं के मध्य आकर्षण और प्रतिकर्षण बलों को अंतरा आणविक बल (intermolecular forces in Hindi) कहते हैं।
कहीं-कहीं इन्हें अंतरा अणुक बल भी लिखा जाता है। यह दोनों नाम एक जैसे ही है। अंतरा अणुक बल अणुओं के मध्य अन्योन्य क्रिया फलस्वरूप उत्पन्न होते हैं।

अंतरा आणविक बल के प्रकार

अंतरा आणविक बल साधारणतः तीन प्रकार के होते हैं।
1. परिक्षेपण बल अथवा लंडन बल
2. द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बल
3. हाइड्रोजन आबंध

1. परिक्षेपण बल या लंडन बल

परमाणु तथा अध्रुर्वीय अणु विद्युत सममित होते हैं इनमें द्विध्रुव आघूर्ण नहीं होता है। द्रव अवस्था में अक्रिय गैस के परमाणुओं और अध्रुर्वीय अणुओं के मध्य उत्पन्न आकर्षण बल को परिक्षेपण बल (dispersion force in Hindi) कहते हैं। अध्रुवीय अणु He, Cl2, Br2, CO2, CH4 तथा CCl4 आदि हो सकते हैं।

अध्रुवीय अणुओं में अस्थायी प्रेरित द्विध्रुव आघूर्ण होता है। प्रेरित द्विध्रुव और प्रेरित द्विध्रुव के मध्य क्रियाओं के फलस्वरूप अणुओं में परिक्षेपण बल विद्यमान हो जाता है। इस प्रकार के बल को पहली बार जर्मन वैज्ञानिक लंडन में प्रस्तावित किया था। जिस कारण दो अस्थायी द्विध्रुव अणुओं के मुख्य आकर्षण बलों को लंडन कहा जाता है
इस बल को प्रकीर्णन बल भी कहा जाता है।

पढ़ें… रासायनिक आबंधन तथा आण्विक संरचना | Chemistry class 11 chapter 4 notes in Hindi

2. द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बल

ध्रुवीय अणुओं में स्थायी द्विध्रुव आघूर्ण पाया जाता है स्थायी द्विध्रुव वाले अणुओं के मध्य द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बल कार्य करते हैं। अर्थात् द्विध्रुव-द्विध्रुव के मध्य क्रियाओं के फलस्वरूप उत्पन्न आकर्षण बल को द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बल कहते हैं। ध्रुवीय अणु HCl, H2S, NCl3, CHCl3 तथा SO2 हो सकते हैं।

द्रव अवस्था में ध्रुवीय अणुओं के मध्य द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बल कार्य करते हैं। द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बल, परिक्षेपण बलों की तुलना में अधिक शक्तिशाली (प्रबल) होते हैं। चूंकि अणुओं के द्विध्रुव आघूर्ण के बढ़ने पर उनके मध्य द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बल बढ़ जाता है।

Note – परिक्षेपण बल तथा द्विध्रुव-द्विध्रुव आकर्षण बलों के सामूहिक रूप को वांडरवाल्स बल कहते हैं। अंतराण्विक आकर्षण बलों को वैज्ञानिक जोहानन वांडरवाल्स के सम्मान में वांडरवाल्स बल कहा जाता है।

3. हाइड्रोजन आबंध

हाइड्रोजन आबंध क्या है इसके बारे में हमने अलग से एक लेख तैयार किया है जिसको बहुत ही आसान एवं उदाहरण सहित वर्णित किया गया है। इसलिए आप छात्र उस लेख को जरूर पढ़ें। ताकि आप हाइड्रोजन आबंध को पूरी तरह से समझ सकें।
पढ़ें …

शेयर करें…

One thought on “अंतरा आणविक बल क्या है यह कितने प्रकार के होते हैं, अंतरा अणुक बल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *