चुंबकीय फ्लक्स क्या है | magnetic flux in hindi, मात्रक, परिभाषा, फ्लक्स घनत्व

चुंबकीय फ्लक्स क्या है :-

यदि किसी एक समान चुंबकीय क्षेत्र में, क्षेत्र के लम्बवत् कोई तल ले तो चुंबकीय क्षेत्र B तथा तल के क्षेत्रफल A के आदिश गुणनफल को चुंबकीय फ्लक्स कहते हैं। चुंबकीय फ्लक्स एक अदिश राशि है। इसे Φ (फाइ) से प्रदर्शित करते हैं। अर्थात्
\footnotesize \boxed { Φ_B = \overrightarrow{B} • \overrightarrow{A} = BA }

चुंबकीय फ्लक्स क्या है | magnetic flux in hindi
चुंबकीय फ्लक्स

यदि चुंबकीय क्षेत्र पृष्ठ के लम्बवत् न होकर उस पर खींचे गए लंब से θ कोण बना रहा है। जैसे चित्र b में दर्शाया गया है तो चुंबकीय फ्लक्स
\footnotesize \boxed { Φ_B = \overrightarrow{B} • \overrightarrow{A} = BAcosθ}

धनात्मक तथा ऋणात्मक चुंबकीय फ्लक्स :-

यदि समतल पृष्ठ पर, पृष्ठ से बाहर की ओर खींचे गए लंब की दिशा (जैसा चित्र में दर्शाया गया है) तथा चुंबकीय क्षेत्र की दिशा एक जैसी है। अर्थात दोनों की दिशाएं समान है। तो चुंबकीय फ्लक्स को धनात्मक चुंबकीय फ्लक्स कहते हैं।
और यदि पृष्ठ पर खींचे गए लंब की दिशा तथा चुंबकीय क्षेत्र की दिशा एक दूसरे के विपरीत है अर्थात दोनों के दिशाएं अलग-अलग हैं। तो चुंबकीय फ्लक्स को ऋणात्मक चुंबकीय फ्लक्स कहते हैं।

चुंबकीय फ्लक्स का एस आई मात्रक :-

चुंबकीय फ्लक्स का एस आई मात्रक वेबर होता है।
चुंबकीय फ्लक्स का CGS मात्रक मैक्सवेल होता है।

तथा चुंबकीय फ्लक्स का MKS मात्रक
सूत्र ΦB = BA से
ΦB = B का मात्रक × A का मात्रक
ΦB = न्यूटन/एंपीयर-मीटर × मीटर2
ΦB = न्यूटन-मीटर/एंपीयर
अतः चुंबकीय फ्लक्स का MKS मात्रक न्यूटन-मीटर/एंपीयर होता है।

चुंबकीय फ्लक्स का विमीय सूत्र :-

सूत्र ΦB = BA से
ΦB का विमीय सूत्र = B का विमीय सूत्र × A का विमीय सूत्र
ΦB का विमीय सूत्र = [MT-2A-1] × [L2]
ΦB का विमीय सूत्र = [ML2T-2A-1]
अतः चुंबकीय फ्लक्स का विमीय सूत्र [ML2T-2A-1] होता है

इस विमीय सूत्र को इस प्रकार भी ज्ञात कर सकते हैं
ΦB = B × A
ΦB = न्यूटन/एंपीयर-मीटर × मीटर2
ΦB = न्यूटन-मीटर/एंपीयर
ΦB = किग्रा-मीटर/सेकंड2 × मीटर/एंपीयर
ΦB = किग्रा-मीटर2/सेकंड2-एंपीयर
ΦB = किग्रा-मीटर2-सेकंड-2-एंपीयर-1
अतः ΦB का विमीय सूत्र = [ML2T-2A-1] है।

पढ़ें… 12वीं भौतिकी नोट्स | class 12 physics notes in hindi pdf

चुंबकीय फ्लक्स घनत्व का मात्रक या इकाई :-

सूत्र ΦB = BA से
B = \large \frac{ΦB}{A}
इस चुंबकीय क्षेत्र को चुंबकीय फ्लक्स घनत्व कहते हैं। इसका मात्रक वे वेबर/मीटर2 होता है। जिसे wb/m2 से दर्शाया जाता है।

चूंकि चुंबकीय क्षेत्र का मात्रक न्यूटन/एंपीयर-मीटर भी होता है। इसलिए चुंबकीय फ्लक्स घनत्व को टेस्ला भी कहते हैं। चुंबकीय फ्लक्स घनत्व एक सदिश राशि है। अतः
1 टेस्ला = 1 न्यूटन/एंपीयर-मीटर
1 टेस्ला = 1 वेबर/मीटर2

चुंबकीय फ्लक्स को चुंबकीय बल रेखाओं के रूप में निरूपित कर सकते हैं। इस पर जो चुंबकीय बल रेखाएं खींची जाएंगी। तब इन बल रेखाओं को फ्लक्स बल रेखाएं कहते हैं।
यदि पृष्ठ चुंबकीय क्षेत्र के समांतर है तब इस पृष्ठ से कोई फ्लक्स रेखा नहीं गुजरती है। एवं इस दशा में पृष्ठ से चुंबकीय फ्लक्स शून्य होता है।

शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published.