कोलाइडी विलयन के गुण, ब्राउनी गति, विद्युत तथा अणुसंख्यक गुण, स्कंदन, लक्षण

कोलाइडी विलयन क्या है यह हम पूर्ण रूप से पढ़ चुके हैं। लेकिन इस अध्याय के अंतर्गत हम कोलाइडी विलयनों के प्रमुख गुण जैसे ब्राउनी गति, विद्युत गुण, जीटा विभव तथा अणुसंख्यक गुण आदि के बारे में संपूर्ण अध्ययन प्राप्त करेंगे।

कोलाइडी विलयन के गुण

कोलाइडी विलयन के निम्न गुण होते हैं।
(1) ब्राउनी गति
(2) टिंडल प्रभाव
(3) अणुसंख्यक गुण
(4) विद्युतीय गुण
(5) विद्युत आवेश गुण
(6) स्पंदन या अवक्षेपण
(7) हार्डी-शुल्जे नियम

1. ब्राउनी गति

कोलाइडी विलयन में कोलाइडी कणों की सभी दिशाओं में अनियमित गति को ब्राउनी गति (Brownian movement in Hindi) कहते हैं।

ब्राउनी गति
ब्राउनी गति

परिक्षेपण माध्यम के कणों का लगातार कोलाइडी कणों से टकराते रहना ही ब्राउनी गति का कारण है।

2. टिंडल प्रभाव

इसके बारे में हमने एक अलग से स्पेशल लेख तैयार किया है।
पढ़ें.. टिंडल प्रभाव क्या है

3. अणुसंख्यक गुण

वह गुण जो विलयन में उपस्थित कणों की संख्या पर निर्भर करते हैं। तो उन्हें अणुसंख्यक गुण कहते हैं। कोलाइडी विलयन भी वास्तविक विलयन की तरह ही अणुसंख्यक गुण (परासरण दाब, क्वथनांक का उन्नयन, हिमांक का अवनमन, वाष्पदाब का अपेक्षित अवनमन आदि) का पालन करता है।

4. विद्युतीय गुण

कोलाइडी कणों पर धन तथा ऋण विद्युत आवेश होता है। किसी कोलाइडी विलयन के कोलाइडी कणों का विद्युत प्रवाह क्षेत्र में विपरीत इलेक्ट्रोड की ओर अभिगमन को विद्युत कण संचलन कहते हैं। चित्र से स्पष्ट है।

कोलाइडी विलयन के गुण

कोलाइडी कणों की एनोड की ओर गति को ऋण कण संचलन एवं कोलाइडी कणों की कैथोड की ओर गति को धन कण संचलन कहते हैं।

5. विद्युत आवेश गुण

कोलाइडी विलयन में कोलाइडी कणों पर धन अथवा ऋण विद्युत आवेश उपस्थित होता है। कोलाइडी कण एक दूसरे को प्रतिकर्षित करते हैं क्योंकि सभी कोलाइडी कणों पर विद्युत आवेश का मान समान होता है कोलाइडी कण विद्युत आवेशित होते हैं जबकि कोलाइडी विलयन विद्युत उदासीन होता है। इसका कारण यह है कि जितना आवेश कोलाइडी कणों पर होता है उतना ही विपरीत आवेश परिक्षेपण माध्यम के कणों पर उपस्थित होता है। अतः आवेश की मात्रा बराबर तथा विपरीत होने के कारण कोलाइडी विलयन विद्युत उदासीन हो जाता है।

6. स्पंदन या अवक्षेपण

विद्युत अपघट्य के विलयन द्वारा कोलाइडी विलयन को अवक्षेपित करने की प्रक्रिया को स्पंदन या अवक्षेपण कहते हैं।

7. हार्डी-शुल्जे नियम

हार्डी शुल्जे नियम को अन्य अध्याय में तैयार किया गया है।
पढ़ें.. हार्डी शुल्जे नियम की व्याख्या


शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published.