सार्थक अंक को प्राप्त करने के नियम क्या हैं, उपयोग, परिभाषा class 11

सार्थक अंक

किसी भौतिक राशि की माप के अंक जो उस राशि को शुद्ध रूप में व्यक्त करते हैं उन्हें सार्थक अंक significant figures in hindi कहते हैं।
जैसे 3.21 में तीन सार्थक अंक हैं एवं 3.33 के बीच तीन सार्थक अंक हैं।

सार्थक अंक को प्राप्त करने के नियम

सार्थक अंकों को प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित नियम है जो नीचे दिए गए हैं –

  1. किसी मापन का विभिन्न मात्रकों के परिवर्तन में सार्थक अंकों की संख्या अपरिवर्तित रहती है।
    उदाहरण – लंबाई 2.804 सेमी में 4 सार्थक अंक हैं यदि इस राशि को मात्रकों 0.02804 मीटर, 28.04 मिलीमीटर या 28040 माइक्रोमीटर भी कर देते हैं लेकिन तब भी इसमें चार ही सार्थक अंक रहेंगे।
  2. सार्थक अंकों की संख्या मापी गई राशि के मापक यंत्र की अल्पतमांक पर निर्भर करती है।
    उदाहरण – यदि किसी तार की लंबाई मीटर पैमाने पर 3.5 सेमी, वर्नियर कैलीपर्स में 3.52 सेमी तथा स्क्रूगेज में 2.520 सेमी मापी जाती है तो इसके सार्थक अंक क्रमशः 2, 3 तथा 4 होंगे।
  3. दशमलव की स्थिति का सार्थक अंकों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
    उदाहरण – 4.52 सेमी या 45.2 मिलीमीटर 0.0452 मीटर तीनों में सार्थक अंकों की संख्या तीन ही है सार्थक अंकों पर दशमलव से कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
  4. दो अशून्य संख्या के बीच शून्य सार्थक अंक होता है।
    उदाहरण – 2.304 तथा 4035 तथा 4.209 इनमें चार सार्थक अंक हैं।
  5. बिना दशमलव वाली संख्या के अनुगामी यह अंतिम के शून्य सार्थक अंक नहीं होते हैं।
    उदाहरण – 123 मीटर या 12300 सेमी या 123000 मिलीमीटर इनमें तीन ही सार्थक अंक हैं।
  6. एक ऐसी संख्या जिसमें दशमलव हो तो अनुगामी शून्य सार्थक अंक होती है।
    उदाहरण – 4.700 मीटर, 470.0 सेमी, 0.004700 किलोमीटर में चार सार्थक अंक है।
  7. दस की घात वाली संख्या सार्थक अंक पर निर्भर नहीं करती है।
    उदाहरण – 4.800 मीटर या 4.800 × 102 सेमी इनमें चार सार्थक अंक है।
  8. एक से छोटी संख्या के शुरू में आने वाले शून्य सार्थक अंक नहीं होते हैं।
    उदाहरण – 0.1250 तथा 0.1025 इनमें चार सार्थक अंक है।

पढ़ें… 11वीं भौतिक नोट्स | 11th class physics notes in Hindi

सार्थक अंक की पहचान करना

यहां हमने सार्थक अंक की पहचान करने के लिए कुछ बिंदु बनाए हैं जो निम्न प्रकार से हैं –

  1. यदि किसी संख्या में शून्य नहीं है तो सभी अंक सार्थक अंक होंगे।
    जैसे – 6328, 2898 में चार सार्थक अंक होंगे।
  2. दो अशून्य के बीच सभी शून्य सार्थक अंक होते हैं।
    जैसे – 602.07 में पांच सार्थक अंक हैं यहां 6, 2 के बीच शून्य है एवं 2, 7 के बीच शून्य है।
  3. दशमलव के बाद शून्य सार्थक अंक नहीं होते हैं।
    जैसे – 0.0062035 में पांच सार्थक अंक (6, 2, 0, 3, 5) हैं।
  4. एक से बड़ी संख्या के बाद दशमलव के बाद शून्य सार्थक अंक होते हैं।
    जैसे – 6.007 तथा 60.07 में चार सार्थक अंक हैं।

आशा करते हैं कि आपके सार्थक अंक संबंधी सभी कन्फ्यूजन खत्म हो गए होंगे। नेट पढ़कर आप आसानी से किसी भी संख्या के सार्थक अंको की संख्या बता सकते हैं अगर आपको कोई परेशानी है तो हमें कमेंट करके बताएं।

शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *