12th class physics chapter 13 objective questions in hindi | नाभिक

नाभिक 12th class physics chapter 13 objective questions and answers in हिंदी :-

  1. दो परमाणुओं के परमाणु क्रमांक भिन्न-भिन्न परंतु परमाणु भार समान है तो वह परमाणु होंगे –
    (a) समस्थानिक
    (b) समभारिक ✓
    (c) सम न्यूट्रॉनिक
    (d) इनमें से कोई नहीं

हल– जब दो परमाणुओं के परमाणु क्रमांक समान तथा परमाणु भार भिन्न-भिन्न होते हैं। तो इसे समस्थानिक कहते हैं
तथा जब दो परमाणुओं के परमाणु की क्रमांक भिन्न-भिन्न तथा परमाणु भार समान होते हैं। तो इसे समभारिक कहते हैं।

  1. सबसे भारी स्थायी तत्व कौन-सा है –
    (a) Pb ✓
    (b) Fe
    (c) Au
    (d) Hg

हल- Pb लेड ( सीसा ) सबसे भारी स्थाई तत्व है।

  1. निम्नलिखित में से सम न्यूट्रॉनिक युग्म है –
    (a) 6C147N14
    (b) 6C148O17
    (c) 6C147N13
    (d) 6C148O16

हल- वे दो परमाणु जिन पर न्यूट्रॉनओ की मात्रा समान होती है। सम न्यूट्रॉनिक कहलाते हैं।
यहां विकल्प में केवल 6C148O16 पर न्यूट्रॉन की मात्रा समान है। जैसे
6C14 = 14 – 6 = 8 न्यूट्रॉन
8O16 = 16 – 8 = 8 न्यूट्रॉन

  1. हाइड्रोजन का रेडियोएक्टिव समस्थानिक है –
    (a) प्रोटियम
    (b) ड्यूटीरियम
    (c) ट्राइटियम ✓
    (d) इनमें से कोई नहीं

हल- हाइड्रोजन के तीन समस्थानिक हैं।
प्रोटियम ( 1H1 ), ड्यूटीरियम ( 1H2 ), ट्राइटियम ( 1H3 )।
हाइड्रोजन का रेडियोएक्टिव समस्थानिक ट्राइटियम है।

इसे भी पढ़े… physics chapter 14 objective questions in hindi अर्द्धचालक

  1. दो नाभिकों की द्रव्यमान संख्याओ का अनुपात 1 : 27 है। तो उनकी नाभिकीय त्रिज्याओं का अनुपात होगा –
    (a) 1 : 3 ✓
    (b) 1 : 9
    (c) 1 : 27
    (d) 1 : 729

हल- मानव द्रव्यमान संख्याएं क्रमशः A1 व A2 हैं तथा त्रिज्याएं क्रमशः R1 व R2 हों तो
सूत्र       \large \frac{R_1}{R_2} = \large ( \frac{A_1}{A_2})^{1/3}
\large \frac{R_1}{R_2} = \large ( \frac{1}{27})^{1/3}
\large \frac{R_1}{R_2} = \large \frac{1}{3}
अतः त्रिज्याओं का अनुपात R1 : R2 = 1 : 3 Ans.

पढ़ें… 12वीं भौतिकी नोट्स | class 12 physics notes in hindi pdf

  1. नाभिकीय बल की प्रकृति होती है –
    (a) विद्युतीय
    (b) चुंबकीय
    (c) गुरुत्वीय
    (d) इनमें से कोई नहीं ✓

हल- नाभिक के भीतर उपस्थित वह बल जो न्यूट्रॉनों तथा प्रोटोनों को परस्पर बांधे रखते हैं। नाभिकीय बल कहलाते हैं। यह बल न विद्युतीय, न चुंबकीय और न ही गुरुत्वीय बल होते हैं।

  1. एक क्यूरी का मान होता है –
    (a) 3.7 × 1012 विघटन/सेकण्ड
    (b) 3.7 × 1010 विघटन/सेकण्ड ✓
    (c) 4.6 × 1012 विघटन/सेकण्ड
    (d) 4.6 × 1010 विघटन/सेकण्ड

हल- रेडियोएक्टिव पदार्थ की सक्रियता का मात्रक क्यूरी होता है।
1 क्यूरी = 3.7 × 1010 विघटन/सेकण्ड

  1. किसी रेडियोएक्टिव पदार्थ की अर्द्ध आयु 6 घण्टे है। तो कितने समय पश्चात् प्रारंभिक द्रव्यमान का 25% भाग अविघटित रह जायेगा –
    (a) 3 घण्टे
    (b) 6 घण्टे
    (c) 12 घण्टे ✓
    (d) 18 घण्टे

हल- दिया है –
अर्द्ध आयु T = 6 घण्टे, N = 25, No = 100
अर्द्ध आयु के अंत में बचे परमाणुओं की संख्या
N = \large N_o (\frac{1}{2})^n
25 = 100 × \large (\frac{1}{2})^n
\large (\frac{1}{4}) = \large (\frac{1}{2})^n
\large (\frac{1}{2})^2 = \large (\frac{1}{2})^n
घातों की तुलना करने पर
n = 2
तो समय t = n × T = 2 × 6 = 12 घण्टे Ans.

  1. किस किरणों के उत्सर्जन में परमाणु क्रमांक और द्रव्यमान संख्या में कोई परिवर्तन नहीं होता है –
    (a) α-किरणों
    (b) β-किरणों
    (c) γ-किरणों ✓
    (d) इनमें से कोई नहीं

हल- γ-किरणों के उत्सर्जन में परमाणु क्रमांक और द्रव्यमान संख्या में कोई परिवर्तन नहीं होता है। जबकि α-किरणों व β-किरणों के उत्सर्जन में परमाणु क्रमांक तथा द्रव्यमान संख्या दोनों में परिवर्तन होता है।

  1. 1u (अथवा amu) कितनी ऊर्जा के तुल्य है –
    (a) 931 मेगा इलेक्ट्रॉन वोल्ट ✓
    (b) 149 मेगा इलेक्ट्रॉन वोल्ट
    (c) 51 मेगा इलेक्ट्रॉन वोल्ट
    (d) शून्य

हल- 1u (अथवा amu) = 931 मेगा इलेक्ट्रॉन वोल्ट
अतः 1u द्रव्यमान के तुल्य ऊर्जा 931 मेगा इलेक्ट्रॉन वोल्ट होती है।

शेयर करें…

अन्य महत्वपूर्ण नोट्स


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *