12th physics chapter 1 objective questions in hindi | वैद्युत आवेश तथा क्षेत्र

वैद्युत आवेश तथा क्षेत्र chapter 1 के question and answer in हिंदी

1. किसी वस्तु के धनात्मक या ऋणात्मक आवेशित होने के लिए कौन उत्तरदायी होता है।

(a) प्रोटोन
(b) इलेक्ट्रॉन ✓
(c) न्यूट्रॉन
(d) इनमें से कोई नहीं

कारण- क्योंकि हम जानते हैं। कि इलेक्ट्रॉन पर ऋणात्मक आवेश होता है। जब दो वस्तुओं को आपस में रगड़ते हैं। तो उनके इलेक्ट्रॉन आपस में गति करने लगते हैं। जिस वस्तु से इलेक्ट्रॉन निकल जाते हैं। वह धनात्मक हो जाती है तथा जिस वस्तु में इलेक्ट्रॉन प्रवेश करते हैं। वह ऋणात्मक हो जाती है

2. निर्वात की विद्युतशीलता Ԑ0 का मात्रक होता है।

(a) न्यूटन-मीटर2/कूलाम2
(b) न्यूटन-वोल्ट/मीटर2
(c) न्यूटन/कूलाम
(d) कूलाम2/न्यूटन-मीटर2

कारण- निर्वात की विद्युतशीलता को Ԑ0 (एपसाइलन नोट) से प्रदर्शित करते हैं इसका मान 8.85×10-12 होता है तथा विमीय सूत्र [M-1L-3T4A2] होता

3. वैद्युत फ्लक्स का मात्रक है।
(a) न्यूटन/कूलाम
(b) वोल्ट-मीटर ✓
(c) वोल्ट/मीटर
(d) न्यूटन-मीटर/वोल्ट

कारण- यह Important questions है। क्योंकि वैद्युत फ्लक्स का मात्रक न्यूटन-मीटर2/वोल्ट होता है। इसलिए ही हम ध्यान से नहीं देखते हैं। और (d) वाले option को लिख देते हैं। जबकि मीटर2 है ना कि मीटर। मगर यहां वैद्युत फ्लक्स का मात्रक वोल्ट-मीटर है।

4. इलेक्ट्रॉन के आवेश तथा संहति का अनुपात है।
(a) 1.77×1011 C/kg
(b) 1.9×1012 C/kg ✓
(c) 1.6×10-11 C/kg
(d) 3.2×10-12 C/kg

कारण- क्योंकि इलेक्ट्रॉन पर आवेश(q) = 1.6×10-19 C
और संहति द्रव्यमान को कहते हैं इसलिए इलेक्ट्रॉन का द्रव्यमान (m) = 9.1×10-31 kg
अब प्रशनानुसार आवेश तथा द्रव्यमान(संहति) का अनुपात
= \large \frac{आवेश}{द्रव्यमान}
= \large \frac{1.6×10^{-19}}{9.1×10^{-31}}
= 1.9×1012 C/kg Ans.

पढ़ें… 12वीं भौतिकी नोट्स | class 12 physics notes in hindi pdf

5. एकसमान वैद्युत क्षेत्र \overrightarrow{E} में द्विध्रुव \overrightarrow{p} पर लगने वाला बल आघूर्ण होता है।
(a) \overrightarrow{p}×\overrightarrow{E}
(b) \overrightarrow{E}×\overrightarrow{p}
(c) \overrightarrow{p}\overrightarrow{E}
(d) शून्य

कारण- चूंकि हम जानते हैं कि एकसमान वैद्युत क्षेत्र \overrightarrow{E} तथा द्विध्रुव \overrightarrow{p} के सदिश गुणनफल को बल आघूर्ण कहते हैं।
इसलिए J = \overrightarrow{p}×\overrightarrow{E}

न कि J = \overrightarrow{p}\overrightarrow{E}
इसे भी पढ़े.. विद्युत विभव अथवा धारिता chapter 2 प्रश्न
इसे भी पढ़े.. Physics class 12 chapter 1 notes in hindi

6. वैद्युत बल रेखाएं चलती हैं।
(a) धनावेश से ऋणावेश की ओर ✓
(b) ऋणावेश से धनावेश की ओर
(c) धनावेश तथा ऋणावेश दोनों में
(d) इनमें से कोई नहीं

कारण- वैद्युत बल रेखाएं धनावेश से प्रारंभ होकर ऋणावेश पर समाप्त हो जाती हैं। अगर आवेश एकल होता है, तो यह अनन्त से प्रारंभ होकर अनन्त पर समाप्त हो जाती हैं।

7. एक कूलाम आवेश में कितने इलेक्ट्रॉन होते हैं।
(a) 1.6 × 10-19
(b) 9.1 × 10-31
(c) 6.25 × 1018
(d) 4.7 × 1032

कारण- दिया है q=1C
हम जानते हैं कि इलेक्ट्रॉन पर आवेश e=1.6×10-19 होता है। तो
q = ne
n =\large \frac{q}{e} (n = इलेक्ट्रॉनों की संख्या)
n = \large \frac{1}{1.6×10^{-19}}
n = 6.25×1018 Ans.

8. रेखीय आवेश घनत्व का मात्रक होता है।
(a) कूलाम-मीटर
(b) न्यूटन-मीटर/कूलाम
(c) कूलाम2/मीटर
(d) कूलाम/मीटर ✓

कारण- किसी तार का रेखीय आवेश घनत्व उस तार की एकांक लंबाई पर उपस्थित आवेश के बराबर होता है। इसे से प्रदर्शित करते हैं। इसका मात्रक कूलाम/मीटर होता है। तथा विमीय सूत्र [L-1TA] होता है।

9. 1 कूलाम के दो आवेश बराबर तथा विपरीत दिशा में रखे हैं जिनके बीच की दूरी 4 C-m है। इसका वैद्युत द्विध्रुव आघूर्ण है।
(a) 6 × 10-2 C-m
(b) 1.0 C-m
(c) 8 × 10-2 C-m ✓
(d) 5.0 C-m

कारण-हम जानते हैं।
कि वैद्युत द्विध्रुव का आघूर्ण p = 2×आवेश×बीच की दूरी
p = 2ql
चूंकि q=1C ,l=4C-m = 4×10-2m
p = 2×1×4×10-2
p =8×10-2 C-m Ans.

10. यदि शुद्ध जल का परावैद्युतांक 81 हो, तब इसकी निरपेक्ष विद्युतशीलता कितनी होगी।
(a) 4.3 × 19-12 C2/N-m2
(b) 7.17 × 10-10 C2/N-m2 ✓
(c) 8.1 × 10-12 C2/N-m2
(d) 5.25 × 10-10 C2/N-m2

कारण- दिया है परावैद्युतांक K = 81
हम जानते हैं कि Ԑ0 = 8.85×10-12 C2/N-m2

निरपेक्ष विद्युतशीलता Ԑ = Ԑ0K
Ԑ= 81×8.85×10-12
Ԑ= 7.17×10-10 C2/N-m2 Ans.

PDF Download

विद्युत आवेश तथा क्षेत्र नोट्स objective Download PDF

StudyNagar

हेलो छात्रों, मेरा नाम अमन है। Physics, Chemistry और Mathematics मेरे पसंदीदा विषयों में से एक हैं। मुझे पढ़ना और पढ़ाना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है। मैंने 2019 में इंटरमीडिएट की परीक्षा को उत्तीर्ण किया। और इसके बाद मैंने इंजीनियरिंग की शिक्षा को उत्तीर्ण किया। इसलिए ही मैं studynagar.com वेबसाइट के माध्यम से आप सभी छात्रों तक अपने विचारों को आसान भाषा में सरलता से उपलब्ध कराने के लिए तैयार हूं। धन्यवाद

View all posts by StudyNagar →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *