12th physics chapter 5 objective questions in hindi | चुंबकत्व एवं द्रव्य

चुंबकत्व एवं द्रव्य 12th physics chapter 5 objective questions in हिंदी :-

  1. चुंबकीय बल रेखाएं चुंबक के किस ध्रुव से निकलती हैं –
    (a) पूर्वी
    (b) पश्चिमी
    (c) उत्तरी ✓
    (d) दक्षिणी

हल- चुंबकीय बल रेखाएं सदैव चुंबक के उत्तरी ध्रुव से निकलकर वक्र बनाती हुई चुंबक के दक्षिणी ध्रुव में प्रवेश करती हैं। यह रेखाएं बंद वक्र बनाते हैं।

  1. किसी स्थान पर पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र में बल रेखाएं समान्तर तथा समदूरस्थ होती हैं ऐसे चुंबकीय क्षेत्र को कहते हैं –
    (a) विद्युत चुंबकीय क्षेत्र
    (b) प्रबल चुंबकीय क्षेत्र
    (c) दुर्बल चुंबकीय क्षेत्र
    (d) एक समान चुंबकीय क्षेत्र ✓

हल- जब बल रेखाएं समांतर होंगी तो वह क्षेत्र एक समान चुंबकीय क्षेत्र होगा एवं जहां चुंबकीय बल रेखाएं पास-पास होती हैं वहां चुंबकीय क्षेत्र प्रबल होता है। तथा जहां चुंबकीय बल रेखाएं दूर-दूर होती है। वहां चुंबकीय क्षेत्र दुर्बल होता है।

  1. चुंबकीय द्विध्रुव के आघूर्ण का मात्रक है –
    (a) एम्पीयर-मीटर
    (b) एम्पीयर-मीटर2
    (c) एम्पीयर/मीटर2
    (d) एम्पीयर/मीटर

हल- चुंबकीय क्षेत्र में चुंबकीय द्विध्रुव पर लगने वाला बल युग्म का आघूर्ण
τ = (NiA)Bsinθ
यहां NiA को चुंबकीय द्विध्रुव आघूर्ण M कहते हैं
M = NiA
इसका मात्रक एम्पीयर/मीटर2 होता है तथा विमा [M0L2T0A] या [L2A] है।

  1. पृथ्वी के चुंबकीय ध्रुवो पर नति(नमन) कोण का मान होता है –
    (a) 0°
    (b) 30°
    (c) 45°
    (d) 90° ✓

हल- पृथ्वी के चुंबकीय ध्रुवो पर नति(नमन) कोण का मान 90° होता है। एवं निरक्ष पर नति(नमन) कोण का मान 0° होता है।

पढ़ें… 12वीं भौतिकी नोट्स | class 12 physics notes in hindi pdf

  1. चुंबकीय याम्योत्तर तथा भौगोलिक याम्योत्तर के बीच का कोण कहलाता है –
    (a) दिकपात का कोण ✓
    (b) नति(नमन) कोण
    (c) चुंबकीय आघूर्ण
    (d) चुंबकन तीव्रता

हल- किसी स्थान पर चुंबकीय याम्योत्तर तथा भौगोलिक याम्योत्तर के बीच बने कोण को दिकपात का कोण कहते हैं।

इसे भी पढ़े… विद्युत चुंबकीय प्रेरण chapter 6 के प्रश्न

  1. इनमें से कौन-सा अनुचुंबकीय के पदार्थ नहीं है –
    (a) प्लैटिनम (Pt)
    (b) कोबाल्ट (Co) ✓
    (c) एल्यूमीनियम (Al)
    (d) कैल्शियम (Ca)

हल-
लौहचुंबकीय पदार्थ – निकिल, कोबाल्ट और लोहा
अनुचुंबकीय पदार्थ – प्लैटिनम, ऑक्सीजन, सोडियम, एल्युमीनियम और कैल्शियम आदि।
प्रतिचुंबकीय पदार्थ – तांबा, सीसा, सिलिकॉन, सोना, चांदी और नाइट्रोजन आदि।

  1. पृथ्वी का चुंबकीय क्षेत्र B, ऊर्ध्वाधर घटक V व क्षैतिज घटक H में संबंध है –
    (a) B = H2 + V2
    (b) B2 = 1/H2 + 1/V2
    (c) B = \sqrt{H^2 + V^2}
    (d) B2 = (H + V)2

हल- चुंबकीय क्षेत्र B = \sqrt{H^2 + V^2}
यदि θ नति कोण हो तो tanθ = \large \frac{V}{H}

  1. एक स्थान पर नति कोण 60° है। यदि पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र का क्षैतिज घटक H है। तो संपूर्ण चुंबकीय क्षेत्र की तीव्रता होगी –
    (a) \large \frac{H}{\sqrt{3}}
    (b) \large \frac{H\sqrt{3}}{2}
    (c) \large \frac{H}{2}
    (d) 2H ✓

हल- दिया है नति कोण θ = 60°
सूत्र tanθ = \large \frac{V}{H}
tan60° = \large \frac{V}{H}
V = {H\sqrt{3}}         -①
अब चुंबकीय क्षेत्र B = \sqrt{H^2 + V^2}
समी.① से V का मान रखने पर
B = \sqrt{H^2 + (H\sqrt{3})^2}
B = \sqrt{H^2 + 3H^2}
B = \sqrt{4H^2} ⇒ B = \sqrt{4H^2}
B = \sqrt{(2H)^2} ⇒ 2H Ans.

  1. कोबाल्ट (Co) का क्यूरी ताप है-
    (a) 1121° C
    (b) 770° C
    (c) 358° C ✓
    (d) 235° C

हल- • कोबाल्ट (Co) का क्यूरी ताप = 358° C तथा 358+273 ⇒631 K(कैल्विन)
• लौहा (Fe) का क्यूरी ताप = 770° C तथा 770+273 ⇒1043 K(कैल्विन)
• निकिल (Ni) का क्यूरी ताप = 1121° C तथा 1121+273 ⇒1394 K(कैल्विन)

  1. किसी स्थान पर पृथ्वी के चुंबकत्व का क्षैतिज घटक H = 0.5×10-4 टेस्ला तथा नति कोण 45° है। ऊर्ध्वाधर घटक की गणना कीजिए –
    (a) 0.5 × 10-6 टेस्ला
    (b) 5.0 × 10-5 टेस्ला ✓
    (c) 5.0 × 10-6 टेस्ला
    (d) 0.5 × 10-5 टेस्ला

हल- दिया है नति कोण θ = 45° , क्षैतिज घटक H = 0.5 × 10-4 टेस्ला
ऊर्ध्वाधर घटक V = ?
सूत्र tanθ = \large \frac{V}{H} ⇒ tan45° × H = V
V = 1 × 0.5 × 10-4 ⇒ 0.5 × 10-4 ⇒5.0 × 10-5 टेस्ला Ans.

शेयर करें…

अन्य महत्वपूर्ण नोट्स


One thought on “12th physics chapter 5 objective questions in hindi | चुंबकत्व एवं द्रव्य

Leave a Reply

Your email address will not be published.