12th physics chapter 9 objective questions in hindi | किरण प्रकाशिकी एवं प्रकाशिक यंत्र

किरण प्रकाशिकी एवं प्रकाशिक यंत्र 12th physics chapter 9 objective questions and answers in हिंदी :-

  1. क्रांतिक कोण के लिए विरल माध्यम में बने अपवर्तन कोण का मान होता है –
    (a) 0°
    (b) 30°
    (c) 60°
    (d) 90° ✓

हल- सघन माध्यम में बना वह आपतन कोण जिसके लिए विरल माध्यम में बने अपवर्तन कोण का मान 90° होता है। क्रांतिक कोण कहलाता है।

  1. यदि पहले तथा दूसरे माध्यमों में प्रकाश की चाल क्रमशः v1 व v2 हैं। तो पहले माध्यम के सापेक्ष दूसरे माध्यम का अपवर्तनांक है –
    (a) v1 × v2
    (b) 1/v1 × v2
    (c) v1/v2
    (d) v2/v1

हल- यदि पहले माध्यम के सापेक्ष दूसरे माध्यम का अपवर्तनांक 1n2 है। तथा प्रकाश की चालें क्रमशः v1 व v2 हैं। तो
1n2 = \large \frac{λ_1}{λ_2} = \large \frac{v_1}{v_2}
λ1, λ2 पहले तथा दूसरे माध्यमों में प्रकाश की तरंगदैर्ध्य हैं।

  1. यदि f1 व f2 फोकस दूरी के दो लेंस परस्पर संपर्क में रखे हो तब संयुक्त लेंस F की फोकस दूरी होगी –
    (a) F = \large \frac{f_1\,f_2}{f_1+f_2}
    (b) F = f1+f2
    (c) F = \large \frac{1}{f_1}+ \frac{1}{f_2}
    (d) इनमें से कोई नहीं

हल- संपर्क में रखे दो लेंसो की तुल्य फोकस दूरी
\large \frac{1}{F} = \large \frac{1}{f_1} + \frac{1}{f_2} होती है।
या       \large \frac{1}{F} = \large \frac{f_1+f_2}{f_1\,f_2} ⇒ F = \large \frac{f_1\,f_2}{f_1+f_2} Ans.

  1. विस्थापन विधि द्वारा उत्तल लेंस की फोकस दूरी होती है –
    (a) \large \frac{a^2+d^2}{2a}
    (b) \large \frac{a^2-d^2}{4a}
    (c) \large \frac{a^2+d^2}{4a}
    (d) \large \frac{a^2-d^2}{2a}

हल- विस्थापन विधि द्वारा उत्तल लेंस की फोकस दूरी f = \large \frac{a^2-d^2}{4a} होती है जहां a – वस्तु पिन व प्रतिबिंब पिन के बीच की दूरी तथा
d – लेंस की दोनों स्थितियों के बीच का विस्थापन है।

पढ़ें… 12वीं भौतिकी नोट्स | class 12 physics notes in hindi pdf

  1. वायु के सापेक्ष जल और कांच के अपवर्तनांक क्रमशः 4/3 एवं 5/3 हैं। तो जल के सापेक्ष कांच का अपवर्तनांक होगा –
    (a) 5/4 ✓
    (b) 4/3
    (c) 20/9
    (d) 1/3

हल- दिया है –
वायु के सापेक्ष जल का अपवर्तनांक anw = 4/3
वायु के सापेक्ष कांच का अपवर्तनांक ang = 4/3
तो जल के सापेक्ष कांच का अपवर्तनांक wng = \large \frac{_an_g}{_an_w}
wng = \large \frac{5/3}{4/3} ⇒ 5/4 Ans.

इसे भी पढ़े... तरंग प्रकाशिकी chapter 10 के प्रश्न

  1. एक स्वस्थ नेत्र का निकट बिंदु होता है –
    (a) 10 सेमी
    (b) 20 सेमी
    (c) 25 सेमी ✓
    (d) 30 सेमी

हल- एक स्वस्थ नेत्र का निकट बिंदु 25 सेंटीमीटर दूरी पर होता है।

  1. कांच में पड़ी दरारों का चमकना उदाहरण है –
    (a) अपवर्तन का
    (b) पूर्ण आंतरिक परिवर्तन का ✓
    (c) परावर्तन का
    (d) प्रकाश के प्रकीर्णन का

हल- हीरे का चमकना, जल में परखनली का चमकीला दिखना, कोच में पड़ी दरारों का चमकना, रेगिस्तान में मरीचिका आदि। यह सब पूर्ण आंतरिक परावर्तन के उदाहरण हैं।

  1. पतले प्रिज्म में विचलन (δm) कोण होता है –
    (a) δm = (1-n)A
    (b) δm = (A-n)
    (c) δm = (n-1/A)
    (d) δm= (n-1)A ✓

हल- पतले प्रिज्म में विचलन δm = (n-1)A है।
जहां     n = प्रिज्म के पदार्थ का अपवर्तनांक और
A = प्रिज्म कोण है।

  1. -5 डायोप्टर तथा +3 डायोप्टर क्षमता के दो लेंस संपर्क में रखे हैं। संयुक्त लेंस की फोकस दूरी होगी –
    (a) +50 सेमी
    (b) -40 सेमी
    (c) +40 सेमी
    (d) -50 सेमी ✓

हल- पहले लेंस की क्षमता P1 = -5 डायोप्टर
पहले लेंस की क्षमता P2 = +3 डायोप्टर
संयुक्त लेंस की क्षमता P = P1 + P2 ⇒ -5+3 ⇒ -2
संयुक्त लेंस की फोकस दूरी f = \large \frac{1}{P}\large \frac{1}{-2} मीटर
f = –\large \frac{100}{2} ⇒ -50 सेमी Ans.

  1. दूर दृष्टि दोष से पीड़ित मनुष्य को लेंस प्रयोग करना होगा –
    (a) अवतल लेंस
    (b) उत्तल लेंस ✓
    (c) कह नहीं सकते
    (d) इनमें से कोई नहीं

हल- निकट दृष्टि दोष के निवारण के लिए अवतल लेंस का प्रयोग किया जाता है। और दूर दृष्टि दोष के निवारण के लिए उत्तल लेंस का प्रयोग किया जाता है।

शेयर करें…

अन्य महत्वपूर्ण नोट्स


Leave a Reply

Your email address will not be published.