एल्कोहाॅल, फिनोल एवं ईथर नोट्स | Chemistry class 12 Chapter 11 notes in Hindi

प्रस्तुत अध्याय के अंतर्गत एल्कोहाॅल, फिनोल एवं ईथर के बारे में संक्षिप्त वर्णन किया गया है इसमें कुछ महत्वपूर्ण बिंदु दिए गए हैं। लेकिन इन तीनों के बारे में विस्तार से अध्ययन अलग-अलग किया गया है जिनका सीधा लिंक इस अध्याय के आखिर में दिया गया है वहां से आप जिस टॉपिक को पढ़ना चाहते हैं उसके लिंक पर जाकर पर टॉपिक को पूरा पढ़ सकते हैं।

किण्वन

वह रसायनिक अभिक्रिया, जिसमे कार्बनिक यौगिकों का किण्वों (अणुजीवों) या उसमें उपस्थित एंजाइमों द्वारा धीमी गति से अपघटन होता है। तो इस रसायनिक अभिक्रिया को किण्वन कहते हैं। अणुजीवों में उपस्थित नाइट्रोजन युक्त पदार्थ को एंजाइम कहते हैं। किण्वन की क्रिया का संचालन एंजाइम द्वारा ही होता है।
एल्कोहाॅल एवं फिनोल महत्वपूर्ण कार्बनिक यौगिक हैं तथा कार्बनिक यौगिकों का एक अन्य वर्ग ईथर भी होता है।

Q. एल्कोहाॅल एवं ईथर एक दूसरे के समावयवी होते हैं। लेकिन एल्कोहाॅल जल में विलेय होता है जबकि इईथर जल में विलय नहीं होता है क्यों?
Ans. इसका कारण यह है कि एल्कोहाॅल जल के अणुओं के साथ हाइड्रोजन बंध की श्रंखला बनाता है। जिस कारण यह जल में विलेय होता है। जबकि ईथर जल के अणुओं के साथ हाइड्रोजन बंध नहीं बनाता है जिस कारण यह जल में विलेय नहीं होता है।

एल्कोहाॅल, फिनोल एवं ईथर नोट्स

  • मेथेनॉल का औद्योगिक स्तर पर निर्माण लकड़ी के भंजक आसवन द्वारा किया जाता है।
  • फिनोल, ईथर तथा एल्कोहाॅल में विलेय होती है इसका गलनांक 42°C (315K) होता है।
  • ईथर जल में अविलेय होता है। क्योंकि यह जल के अणुओं के साथ हाइड्रोजन बंध नहीं बनाता है। और न ही जल के अणुओं में उपस्थित हाइड्रोजन बंध को तोड़ पाता है। ईथर अल्कोहल में विलेय है।
  • मेथिल अल्कोहल को कार्बिनाॅल भी कहते हैं।
  • फिनोल का उपयोग रबर उद्योग में विलायक के रुप में किया जाता है तथा यह औषधि निर्माण में भी प्रयोग होता है।
  • ईथर का उपयोग निश्चेतक के रूप में किया जाता है तथा यह पावर अल्कोहल के निर्माण में भी प्रयोग होता है।
  • एल्कोहल का अणु भार बढ़ने पर इसकी जल में विलेयता घटती है। यह एल्कोहल में —OH समूह तथा जल के अणुओं के मध्य हाइड्रोजन बंधों का कारण होता है।

Chemistry class 12 Chapter 11 notes in Hindi

एल्कोहाॅल, फिनोल एवं ईथर पाठ में कुछ बड़े-बड़े टॉपिक भी हैं। जैसे एल्कोहाॅल, ईथर, मेथेनॉल, एथेनॉल तथा फिनोल इन सभी पर हमने अलग-अलग लेख तैयार किए हैं ताकि आप सभी स्टूडेंट को इन लेखों को समझने में आसानी हो, आप इन सभी लेखों को जरूर पढ़ें…

ऐल्कोहॉल क्या है, उपयोग, सूत्र, बनाने की विधि, भौतिक व रासायनिक गुण, प्राथमिक अल्कोहल
फिनोल क्या है, बनाने की विधि, भौतिक व रासायनिक गुण, सूत्र, उपयोग, अम्लीय क्यों होता है
ईथर क्या है, बनाने की विधि, उपयोग, भौतिक व रासायनिक गुण, संरचना सूत्र, अभिक्रिया
मेथेनॉल, मिथाइल अल्कोहल क्या है, उपयोग, बनाने की विधि, फार्मूला, अम्ल, गुण
एथेनॉल या एथिल अल्कोहल क्या है, बनाने की विधि, उपयोग, रासायनिक सूत्र, गुण


शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published.