सोडियम के महत्वपूर्ण यौगिक एवं जैविक महत्व

सोडियम के कुछ महत्वपूर्ण यौगिक हैं। जिन सभी पर Study Nagar द्वारा अलग-अलग स्पेशल लेख तैयार किए गए हैं ताकि उन सभी यौगिकों को अच्छे तरीके से समझाया जा सके।

सोडियम के यौगिक

सोडियम के महत्वपूर्ण यौगिकों को निम्न प्रकार से वर्णित किया गया है।
1. सोडियम कार्बोनेट क्या है, बनाने की विधि, रसायनिक सूत्र, गुण और उपयोग, धावन सोडा
2. सोडियम क्लोराइड क्या है, उपयोग, रासायनिक सूत्र, बनाने की विधि व गुण
3. सोडियम हाइड्रोक्साइड क्या है, बनाने की विधि, गुण, उपयोग, कास्टिक सोडा का रासायनिक नाम व सूत्र
4. सोडियम बाई कार्बोनेट क्या है, बनाने की विधि, गुण, उपयोग, सूत्र व रासायनिक नाम

सोडियम के जैविक महत्व

एक सामान्य व्यक्ति जिसका वजन लगभग 70 किलो है। तब इसमें लगभग 90 ग्राम सोडियम तथा 170 ग्राम पोटैशियम होता है। जबकि इसमें लोहा केवल 5 ग्राम ही होता है। सोडियम और पोटेशियम अल्प मात्रा में सभी प्रणियों के लिए आवश्यक तत्व हैं।
सोडियम आयन Na+ मुख्यता अंतराकाशीय द्रव में उपस्थित रक्त प्लाज्मा में पाया जाता है जो कोशिकाओं को घेरे रहता है। प्राणियों में तंत्रिका के कार्य करने में सोडियम आयन बहुत महत्वपूर्ण है। यह कोशिका झिल्ली में जल प्रभाव को नियंत्रित करते हैं तथा यह कोशिकाओं में शर्करा और अमीनो अम्लों के प्रभाव को भी नियंत्रित करता है।

कोशिका झिल्ली के अन्य भागों में पाए जाने वाले सोडियम एवं पोटैशियम आयनों की सांद्रता में निम्न प्रकार की भिन्नता पाई जाती है। जैसे –
रक्त प्लाज्मा में लाल रक्त कोशिकाओं में सोडियम की मात्रा 143 m mol/L जबकि इस में पोटैशियम की मात्रा 5 m mol/L है।
सोडियम और पोटैशियम की सांद्रता क्रमशः 10 m mol/L तथा 105 m mol/L तक परिवर्तित हो सकती है।

आशा करते हैं कि यह लेकर केनिया काफी मदद पूर्ण रहा होगा इस टॉपिक के अन्य भागों पर लिखे गए लेकर लिंक ऊपर दिया गया है इसलिए वहां से आप सभी टॉपिक को एक बार जरूर पढ़ें।


शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *