क्षारीय मृदा धातु किसे कहते हैं, वर्ग 2 के तत्व के गुण, उपयोग व उदाहरण

क्षारीय मृदा धातु

आवर्त सारणी में s ब्लॉक के वर्ग 2 के 6 तत्वों को क्षारीय मृदा धातु (alkaline earth metal in Hindi) कहते हैं। यह तत्व बेरिलियम (Be), मैग्निशियम (Mg), कैल्सियम (Ca), स्टॉन्शियम (Sr), बेरियम (Ba) तथा रेडियम (Ra) हैं।
ये सभी तत्व धातु हैं और इनके ऑक्साइड क्षारीय तथा मृदा के सदृश अलगनीय हैं। जिस कारण वर्ग 2 के तत्वों को क्षारीय मृदा धातु कहते हैं। इन तत्वों में रेडियम एक रेडियोएक्टिव तत्व है।

क्षारीय मृदा धातुओं के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास

क्षारीय मृदा धातुओं का सामान्य इलेक्ट्रॉनिक विन्यास ns2 होता है। इन तत्वों के संयोजकता कोश के s-कक्षक में 2 इलेक्ट्रॉन होते हैं।
1. बेरिलियम Be – (4) ⇒ 1s2 2s2
2. मैग्निशियम Mg -(12) ⇒ 1s2 2s22p6 3s2
3. कैल्सियम Ca (20) ⇒ 1s2 2s22p6 3s23p6 4s2
4. स्टॉन्शियम Sr – (38) ⇒ 1s2 2s22p6 3s23p6 3d10 4s24p6 5s2
5. बेरियम Ba – (56) ⇒ 1s2 2s22p6 3s23p6 3d10 4s24p64d10 5s25p6 6s2 या [Xe]6s2
6. रेडियम Ra – (88) ⇒ 1s2 2s22p6 3s23p6 3d10 4s24p64d10 4f14 5s2 5p65d10 6s26p6 7s2 या [Rn]7s2

क्षारीय मृदा धातु की आयनिक त्रिज्याएं

क्षारीय मृदा धातुओं की परमाणु और आयनिक त्रिज्याएं बड़ी होती हैं। लेकिन क्षार धातुओं की तुलना में छोटी हैं। इनकी आयनिक त्रिज्याएं वर्ग में ऊपर से नीचे की ओर जाने पर बढ़ती हैं।

आयनन एंथैल्पी

क्षारीय मृदा धातुओं के परमाणु का आकार बड़ा होने के कारण इनकी आयनन एंथैल्पी के मान कम होते हैं। क्षारीय मृदा धातुओं की प्रथम आयनन एंथैल्पी का मान क्षार धातुओं की प्रथम आयनन एंथैल्पी की मान की तुलना में अधिक होता है।

क्षारीय मृदा धातुओं के भौतिक गुण

  • क्षारीय मृदा धातुएं सामान्यतः चांदी की भांति श्वेत, चमकदार एवं नरम होती हैं।
  • क्षारीय मृदा धातु के गलनांक और क्वथनांक उच्च होते हैं।
  • क्षारीय मृदा धातु की क्षार धातुओं के समान ही विद्युत एवं उष्मीय चालकता उच्च होती है।
  • क्षारीय मृदा धातुएं बहुत क्रियाशील होती हैं। परंतु यह क्षार धातुओं की तुलना में कम क्रियाशील होती हैं।
गुणबेरिलियममैग्नीशियमकैल्सियमस्टॉन्शियमबेरियमरेडियम
परमाणु क्रमांक41220385688
परमाणु भार9.0124.3140.0887.62137.33226.03
गलनांक K1560924112410621002973
क्वथनांक K27451363176716552078(1973)
घनत्व g/cm³1.841.741.552.633.59(5.5)

क्षारीय मृदा धातुओं के रासायनिक गुण

1. हैलोजन से क्रिया – क्षारीय मृदा धातुएं हैलोजन के साथ उच्च ताप पर क्रिया करके हैलाइड बनाती हैं। (जहां X = Cl, F, Br तथा I)
M + X2 \longrightarrow MX2

2. अम्लों से क्रिया – क्षारीय मृदा धातुएं शीघ्र ही अम्लों के साथ क्रिया करके हाइड्रोजन गैस मुक्त करती हैं।
M + 2HCl \longrightarrow MCl2 + H2

3. क्षारीय मृदा धातुओं के नाइट्रेट जल में विलेय होते हैं। एवं गर्म करने पर यह धातु ऑक्साइड में अपघटित हो जाते हैं।
2Mg(NO3)2 \xrightarrow {गर्म} 2MgO + 4NO2 + O2

क्षारीय मृदा धातुओं के उपयोग

  1. बेरिलियम का उपयोग मिश्र धातुओं के निर्माण में किया जाता है।
  2. मैग्नीशियम का उपयोग चमकीले पाउडर और संकेतकों में होता है।
  3. कैल्सियम का उपयोग ऑक्साइडो से धातुओं के निष्कर्षण में होता है।

क्षारीय मृदा धातु संबंधित प्रश्न उत्तर

Q.1 वर्ग 2 के तत्व क्या कहलाते हैं?

Ans. क्षारीय मृदा धातु

Q.2 वर्ग 2 में कितने तत्व हैं?

Ans. 6 तत्व


शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *