कार्बन टेट्राक्लोराइड क्या है, उपयोग, फार्मूला, बनाने की विधि, भौतिक व रासायनिक गुण

कार्बन टेट्राक्लोराइड

कार्बन टेट्राक्लोराइड का अणुसूत्र CCl4 होता है। यह मेथेन का टेट्राक्लोरो व्युत्पन्न है। इसका IUPAC नाम टेट्राक्लोरोमेथेन होता है।
चूंकि इसका उपयोग आग बुझाने में भी किया जाता है इसलिए इसे पायरीन भी कहते हैं। या कार्बन टेट्राक्लोराइड का अन्य नाम पायरीन भी है।

कार्बन टेट्राक्लोराइड बनाने की विधि

1. कार्बन टेट्राक्लोराइड को सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में मेथेन के क्लोरोनीकरण द्वारा प्राप्त किया जाता है।
CH4 + 4Cl2 \xrightarrow [प्रकाश] {400°C} \scriptsize \begin{array}{rcl} CCl_4 \\ कार्बन\,टेट्राक्लोराइड \end{array} + 4HCl

2. कार्बन डाईसल्फाइड की एल्युमीनियम क्लोराइड‌ AlCl3 उत्प्रेरक की उपस्थिति में क्लोरीन के साथ क्रिया करने पर कार्बन टेट्राक्लोराइड प्राप्त होता है तथा CCl4 को मिश्रण से प्रभाजी आसवन द्वारा अलग कर लेते हैं।
CS2 + 3Cl2 \xrightarrow {AlCl_3} CCl4 + S2Cl2

कार्बन टेट्राक्लोराइड के भौतिक गुण

  • कार्बन टेट्राक्लोराइड रंगहीन, भारी द्रव होता है।
  • यह जल में अविलेय है परंतु कार्बनिक विलायकों में विलेय है।
  • यह अज्वलनशील तथा जहरीला यौगिक है।
  • इसका क्वथनांक 77°C (350K) होता है।
  • इसको सूंघने पर मनुष्य को बेहोशी आ जाती है।

कार्बन टेट्राक्लोराइड के रासायनिक गुण

a. जब कार्बन टेट्राक्लोराइड की वाष्प को जलवाष्प से क्रिया कराते हैं तो यह अत्यंत विषैली गैस फाॅस्जीन का निर्माण करती है।
CCl4 + H2O \xrightarrow {उच्च\,वाष्प} \scriptsize \begin{array}{rcl} COCl_2 \\ फाॅस्जीन \end{array} + 2HCl

b. CCl4 को हाइड्रोजन फ्लोराइड के साथ एंटीमनी पेंटाक्लोराइड (SbCl5) उत्प्रेरक की उपस्थिति में गर्म करने पर फ्रेऑन गैस प्राप्त होती है।
CCl4 + 2HF \xrightarrow {SbCl_5} CCl2F2 + 2HCl

c. निर्जल AlCl3 की उपस्थिति में कार्बन टेट्राक्लोराइड की बेंजीन के साथ क्रिया कराने पर ट्राई फेनिल मैथिलक्लोराइड बनता है।
3C6H6 + CCl4 + 2HF \xrightarrow {निर्जल\,AlCl_3} (C6H5)3CCl + 3HCl

कार्बन टेट्राक्लोराइड के उपयोग

  1. चूंकि कार्बन टेट्राक्लोराइड अज्वलनशील होती है अतः इसलिए इसका उपयोग आग बुझाने में किया जाता है जिस कारण इससे पायरीन भी कहते हैं।
  2. इसका उपयोग वसा, मोम, रेजिन तथा तेल के लिए विलायक के रुप में किया जाता है।
  3. यह घरों से धब्बे हटाने में प्रयोग किया जाता है।
  4. इसका उपयोग औषध उत्पादन में भी किया जाता है।
  5. फ्रेऑन के निर्माण में यह प्रयोग किया जाता है।

इन्हें भी पढ़ें…
पढ़ें… क्लोरोफॉर्म क्या है, उपयोग, सूत्र, भौतिक व रासायनिक गुण, बनाने की विधि
पढ़ें… आयोडोफाॅर्म क्या है, बनाने की विधि, सूत्र, उपयोग, परीक्षण तथा रासायनिक अभिक्रिया लिखिए

आशा करते हैं कि कार्बन टेट्राक्लोराइड संबंधित यह लेख आपके लिए काफी helpful रहा होगा। तो इसलिए को अपने कक्षा के छात्रों के साथ जरूर शेयर करें।


शेयर करें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *