तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं | tadbhav tatsam in Hindi PDF

प्रस्तुत लेख के अंतर्गत तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं। इसी टॉपिक का अध्ययन किया जाएगा। tadbhav tatsam shabd kise kahate Hain का निम्न प्रकार से वर्णन किया गया है।

तत्सम शब्द

तत्सम शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है। तत् + सम। ‘तत्’ का अर्थ होता है। ‘उसके’ तथा ‘सम’ का अर्थ होता है ‘समान’। अतः तत्सम शब्द का अर्थ होता है उसके समान। यहां उसके से तात्पर्य स्रोत भाषा अर्थात ‘संस्कृत के समान’ से है।
संस्कृत भाषा के ऐसे शब्द जो अपने मूल रूप में ही हिंदी में प्रयुक्त किए जाते हैं। उन्हें तत्सम शब्द (tatsam shabd in Hindi) कहते हैं।
जैसे – बालक, पुस्तक, गुरु, कवि, नारी, पृथ्वी, सुंदर, साहस, माता, सौंदर्य, राष्ट्र, वायु, नवीन, नित्य आदि।

तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं
तत्सम और तद्भव शब्द

Note – जिन संस्कृत शब्दों में संस्कृत प्रत्यय को लगाकर नए शब्द बनाए गए हैं। वह भी तत्सम शब्द कहलाते हैं। जैसे – दूरदर्शन, आकाशवाणी, उत्पादनशील आदि।

तद्भव शब्द

तद्भव शब्द तत् + भव से मिलकर बना है जिसका अर्थ होता है उससे उत्पन्न या उससे होना। यहां उससे उत्पन्न संस्कृत भाषा की ओर संकेत करता है।
वह शब्द जो संस्कृत से उत्पन्न या विकसित हुए हैं उन्हें तद्भव शब्द (tadbhav shabd in Hindi) कहते हैं। इसे इस प्रकार भी परिभाषित कर सकते हैं। –
संस्कृत के वे शब्द जो प्राकृत, अपभ्रंश, पुरानी हिंदी से गुजरने के कारण आज परिवर्तित रूप में मिलते हैं। उन्हें तद्भव शब्द कहते हैं।
जैसे – दुग्ध से दूध, रात्रि से रात, दधि से दही, वानर से बंदर आदि से विकसित हुए हैं।

पढ़ें… उपसर्ग किसे कहते हैं, भेद, परिभाषा उदाहरण सहित, प्रकार | upsarg in Hindi
पढ़ें…
प्रत्यय किसे कहते हैं, परिभाषा, भेद, उदाहरण, प्रकार, कृत् और तद्धित प्रत्यय

तत्सम और तद्भव शब्द के उदाहरण

तत्समतद्भवतत्समतद्भव
अग्निआगअक्षिआंख
अज्ञानअनजानअमावस्याअमावस
आम्रआमआश्रयआसरा
अश्रुआंसूआलस्यआलस
अंगुष्ठअंगूठाआशाआस
अन्नअनाजआर्दकअदरक
अंधकारअंधेराआश्चर्यअचरज
अर्द्धआधाआषाढ़असाढ़
अद्यआजउष्ट्रऊंट
इक्षुईखउच्चऊंचा
ईर्ष्याईर्षाउलूकउल्लू
ऋतुरितुएकादशग्यारह
उत्साहउछाहओष्ठओठ
कर्मकामकच्छपकछुआ
कर्पूरकपूरकर्पटकपड़ा
कंटककॉंटाकज्जलकाजल
कूपकुआंकुक्षिकोख
कपाटकिवाड़काककौआ
कंकणकंगनकपोतकबूतर
काष्टकाठकृष्णकिशन
कोकिलकोयलकृषककिसान
क्षेत्रखेतक्षतिछति
खट्वाखाटकातरकायर
कृपाकिरपागृहघर
ग्रामगॉंवग्राहकगाहक
ग्रंथिगॉंठगुहागुफा
गृहणीघरनीगुणगुन
गायकगवैयागृद्धगिद्ध
घटघड़ाघटीघड़ी
घोटकघोड़ाघृतघी
घृणाघिनचंद्रचांद
चैत्रचैतचर्मचाम
चंद्रिकाचांदनीचणकचना
चतुष्पथचौराहाचर्मकारचमार
चटकाचिड़ियाचरणचरन
चतुर्दशचौदहचक्रचाक
छत्रछाताछिद्रछेद
जंबूजामुनजंघाजॉंघ
ज्येष्ठजेठजिह्वाजीभ
जन्मजनमजीर्णजीरण
जमाताजमाईजगत्जग
जाग्रणजागनाटंकशालाटकसाल
त्वरिततुरंतताम्रतांबा
तडागतालाबतृणतिनका
तिलकटीकातप्ततपना
तीर्थतीरथथुवर्णथूरना
दशमदसवांदंडडंडा
दंतदांतदर्शनदरसन
दीपकदीयादशदस
दधिदहीदुर्बलदुबला
दुग्धदूधधैर्यधीरज
धर्मधरमधर्तूरधतूरा
धरित्रीधरतीधूमधुआं
निर्गुणनिरगुननवीननया
नग्ननंगानासिकानाक
निद्रानींदनयननैन
नक्षत्रनखतनिष्ठुरनिठूर
नृत्यनाचनकुलनेवला
पितृपितापदपैर
पूर्णपूरापिपासाप्यास
प्रियपियपौषपूस
पुत्रवधूपतोहूप्रस्तरपत्थर
पत्रपत्तापिप्पलपीपल
प्रहरपहरपृष्ठपीठ
प्रर्यंकपलंगपक्वपक्का
पंचपांचपक्षीपंछी
पौत्रीपोतीपुरुषार्थपुरुसारथ
पुष्पफूलपौत्रपोता
पीतपीलापार्वतीपारबती
पित्तलपीतलप्रकटप्रगट
फाल्गुनफागुनबरनवर्ण
बधिरबहराबिंदुबूंद
भगिनीबहनभक्तभगत
भ्रूभौंहभ्रातृभाई
भ्रमरभौंराभिक्षाभीख
भ्रातवधूभाभीमातुलमामा
मुष्टिमुट्ठीमस्तकमाथा
मिष्ठानमिठाईमातृमाता
मुख्यमुखियामंडूकमेंढक
महिषीभैंसमित्रमीत
मौक्तिकमोतीमृक्तिकामिट्टी
मयूरमोरमनुष्यमानुष
मत्स्यमछलीमुखमुंह
मृत्युमौतमलमैल
यमुनाजमुनायमजम
यशजशयुगजुग
युवाजवानरात्रिरात
रिक्षरीछरुष्टरुठा
रुक्षरूखाराज्ञीरानी
रज्जुरस्सीरिक्तरीता
राजपूत्रराजपूतलज्जालाज
लक्षलाखलशुनलहसुन
लक्ष्मणलखनलौहलोहा
लताबेलविवाहविआह
वृषभबैलवधूबहू
वानरबन्दरवाष्पभाप
वार्ताबातवृद्धबूढ़ा (बुड्ढा)
वर्तिकाबत्तीवंशबॉंस
वणिकबनियावरयात्राबारात
विद्युतबिजलीवर्षबरस
वाराणसीबनारसवकबगुला
वृश्चिकबिच्छूशुष्कसूखा
श्यामलसॉंवलाशत्सौ
शर्कराशक्करशीशसिर
श्वश्रुसासशाकसाग
शैय्यासेजश्वसुरससुर
शापश्रापशिक्षा सीख
श्वाससांसश्रावणसावन
सम्पत्तिसम्पतिस्थलथल
सौभाग्यसुहागस्तनथन
स्कंधकंधासर्पसांप
स्नेहनेहसूर्यसूरज
स्वरसुरसूत्रसूत
सायंशामसज्जनसाजन
सत्यसचसप्तसात
स्वपनसपनास्वर्णसोना
साक्षीसाखीस्तंभखम्भा
स्वामीसाईंस्मरणसुमिरन
ह्रदयहियहरितहरा
हस्तहाथहस्तीहाथी
हासहॅंसीहरिद्राहल्दी
हरिणहिरणहोलिकाहोली
श्रृंगारसिंगारश्रद्धासाध
षट्छःषंडसॉंड़
श्रेष्ठिनसेठषष्ठछठा
त्रिकाष्ठटिकठीत्रुटटूट
त्रोटकटोटकाक्षारखार
क्षेत्रखेतक्षीणछीन
ज्ञानीग्यानीज्ञानग्यान

tadbhav tatsam shabd list PDF

कई छात्रों का कहना है कि वह ऑफलाइन PDF के द्वारा पढ़ना चाहते हैं। क्योंकि उनके यहां पर इंटरनेट की सुविधा ठीक नहीं है। इन्हीं छात्रों को ध्यान में रखकर Study Nagar team ने tadbhav tatsam shabd की एक pdf तैयार की है। जिसका download link नीचे दिया गया है। वहां से आप तत्सम तद्भव शब्दों की लिस्ट download कर सकते हैं एवं अपने दोस्तों के साथ साझा कर सकते हैं।

Note – यह तत्सम तद्भव शब्द नोट्स किसी एक विशेष कक्षा को टारगेट नहीं करते हैं। यह सभी कक्षाओं तथा प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हैं।
आपसे निवेदन है कि आप पहले अपने Board की Book के हिसाब से वही tadbhav tatsam shabd याद करें जो आपकी Book में दिए गए हैं।

पढ़ें… अनेकार्थी शब्द किसे कहते हैं | anekarthi shabd in Hindi pdf
पढ़ें…
अनेक शब्दों के लिए एक शब्द | anek shabdon ke liye ek shabd

अगर आपको इन नोट्स के अंदर कोई गलत या कमी लगती है। तो आप हमें कमेंट या ईमेल के माध्यम से जरूर बताएं। हम आपके सुझाव को चेक करके अपडेट कर देंगे।
धन्यवाद

तत्सम तद्भव शब्द संबंधी प्रश्न उत्तर

Q.1 तत्सम शब्द को परिभाषित कीजिए?

Ans. संस्कृत भाषा के ऐसे शब्द जो अपने मूल रूप में ही हिंदी में प्रयुक्त किए जाते हैं। उन्हें तत्सम शब्द कहते हैं।

Q.2 सूर्य का तद्भव शब्द क्या है?

Ans. सूर्य का तद्भव शब्द सूरज है।

Q.3 नींद का तत्सम शब्द क्या है?

Ans. नींद का तत्सम शब्द निद्रा है।

Q.4 तत्सम शब्द का उदाहरण क्या है?

Ans. बालक, पुस्तक, गुरु, कवि, नारी, पृथ्वी, सुंदर, साहस, माता, सौंदर्य, राष्ट्र, वायु, नवीन, नित्य आदि।


शेयर करें…

Gulam Waris

हेलो छात्रों, मेरा नाम गुलाम वारिस है। मैं मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश से हूं। 2022 में मैंने B.A. की शिक्षा को पूरा किया। और इसके बाद अब में B.ed. कर रहा हूं। हिन्दी, सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर्स पर मुझे अच्छी समझ है। मुझे लिखना और पढ़ाना बहुत पसंद है। इसलिए ही मैं ऑनलाइन studynagar.com वेबसाइट की मदद से आप सभी छात्रों तक अपने ज्ञान को सरल और आसान भाषा में प्रस्तुत कराने के लिए तैयार हूं। धन्यवाद

View all posts by Gulam Waris →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *