मृदा प्रदूषण क्या है, प्रकार, कारण और नियंत्रित के उपाय, प्रभाव, स्रोत pdf

मृदा प्रदूषण

भूमि का वह पतला उर्वर आवरण जिसमें पौधे उगते हैं उस आवरण को मृदा कहते हैं। मृदा का जन्म चट्टानों के अपक्षेयण से होता है। मृदा में वनस्पतियों की वृद्धि और जीवन के लिए आवश्यक तत्व जैसे – वायु, जल, कार्बनिक द्रव्य तथा खनिज के मिश्रण उपस्थित होते हैं। मृदा में अवांछनीय पदार्थों के मिलने से उसकी उर्वरता कम या समाप्त हो जाती है। अतः मृदा में किसी भी प्रकार का भौतिक व रसायनिक परिवर्तन जो पौधों तथा उन पर निर्भर जीवों को प्रभावित करता है मृदा प्रदूषण (soil pollution in Hindi) कहलाता है।

मृदा प्रदूषण के कारण

मृदा प्रदूषण के विभिन्न कारण या स्रोत निम्न प्रकार से हैं।
1. औद्योगिक अपशिष्ट – औद्योगिक अपशिष्ट मृदा प्रदूषण का एक मुख्य कारक है। चीनी मिल, वस्त्र उद्योग, पेपर उद्योग, सीमेंट उद्योग आदि ऐसे प्रमुख उद्योग हैं जिनसे मृदा प्रदूषण होता है।

2. घरेलू व शहरी अपशिष्ट – घरेलू व शहरी अपशिष्ट में कूड़ा करकट, प्लास्टिक, कागज, कांच, पॉलीथिन के थैले, खाद्य अपशिष्ट आदि सम्मिलित हैं।

3. कृषि रासायनिक पदार्थ – उर्वरकों, पीड़क नाशकों, खरपतवार नाशकों आदि रसायनों का प्रयोग कृषि के उत्पादन में वृद्धि करने के लिए तथा फसलों के बचाने में किया जाता है लेकिन इन रसायनों से मृदा प्रदूषण होता है।

4. पीड़क नाशक – वे रसायन जो अवांछनीय सूक्ष्म जीवों की वृद्धि को रोक देते हैं या उन्हें नष्ट कर देते हैं। पीड़क नाशक कहलाते हैं। इन रसायन का आहार श्रृंखला में प्रवेश करना, जंतुओं और मानव के स्वास्थ्य पर काफी प्रभाव डालता है।

पढ़ें... ओजोन परत क्या है, इसका क्षरण, महत्व और प्रभाव, ओजोन छिद्र pdf
पढ़ें… जल प्रदूषण क्या है निबंध हिंदी में, कारण, प्रभाव, प्रकार | water pollution in Hindi

मृदा प्रदूषण के प्रभाव

  • कूड़ा, कांच, प्लास्टिक व खाद्य अपशिष्ट आदि सड़कर दुर्गंध प्रदान करते हैं।
  • मनुष्य के मल और पशुओं के गोबर भूमि को उपजाऊ करने के साथ-साथ उसे प्रदूषित भी करते हैं। इनमें उपस्थित रेगाणु पौधों को संदूषित करते हैं। जिसका मनुष्य पर जीवो के स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है।
  • रेडियोएक्टिव पदार्थों को भूमि में दबाने से यह पौधों में पहुंच जाते हैं। तथ मवेशियों और मनुष्य के स्वास्थ्य को काफी हानि पहुंचाते हैं।
  • अनेक प्रकार के रासायनिक पदार्थ मृदा को विषाक्त करके उसे पौधों के उगने के अयोग्य बनाते हैं।

👉 वायु प्रदूषण क्या है निबंध, कारण, प्रभाव, नियंत्रण | air pollution in Hindi

मृदा प्रदूषण के नियंत्रण के उपाय

  1. वृक्षों के कटान पर प्रतिबंध लगाया जाए एवं वृक्षारोपण अधिक से अधिक किया जाए।
  2. भूमि में रसायनिक उर्वरकों का आवश्यकतानुसार उचित मात्रा में ही प्रयोग किया जाए।
  3. ठोस अपशिष्टों के निपटान (disposal) के लिए उचित विधियों का प्रयोग करना चाहिए।
  4. परमाणु विस्फोटों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए।
  5. पीड़ानाशकों का आवश्यकता के अनुसार ही कम मात्रा में प्रयोग करना चाहिए।
  6. जैविक उर्वरकों व खादों के उपयोग से रसायनिक उर्वरकों को नियंत्रित किया जा सकता है।

शेयर करें…

StudyNagar

हेलो छात्रों, मेरा नाम अमन है। Physics, Chemistry और Mathematics मेरे पसंदीदा विषयों में से एक हैं। मुझे पढ़ना और पढ़ाना बहुत ज्यादा अच्छा लगता है। मैंने 2019 में इंटरमीडिएट की परीक्षा को उत्तीर्ण किया। और इसके बाद मैंने इंजीनियरिंग की शिक्षा को उत्तीर्ण किया। इसलिए ही मैं studynagar.com वेबसाइट के माध्यम से आप सभी छात्रों तक अपने विचारों को आसान भाषा में सरलता से उपलब्ध कराने के लिए तैयार हूं। धन्यवाद

View all posts by StudyNagar →

One thought on “मृदा प्रदूषण क्या है, प्रकार, कारण और नियंत्रित के उपाय, प्रभाव, स्रोत pdf

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *