गतिमान आवेश तथा चुंबकत्व के नोट्स | Physics class 12 chapter 4 notes in hindi

चुंबकीय क्षेत्र क्या है :-

किसी चुंबक के चारों का वह क्षेत्र जिसमें चुंबकीय सुई पर एक बल-आघूर्ण स्थापित होता है। जिसके कारण चुंबकीय सुई घूमकर एक निश्चित दिशा में ठहरती है। चुंबक का चुंबकीय क्षेत्र कहलाता है।
हमारी पृथ्वी भी एक चुंबक की भांति व्यवहार करती है। जिसका चुंबकीय क्षेत्र होता है। यही कारण है। कि जब हम कोई चुंबकीय सुई को स्वतंत्रपूर्वक लटका देते हैं। तो वह सदैव उत्तर-दक्षिण दिशा में ही ठहरती है।
यह भी पढ़ें… 12th physics chapter 4 objective questions in hindi

विद्युत तथा चुंबकीय क्षेत्र में संबंध :-

जब +q आवेश का कण विद्युत क्षेत्र E में गति करता है। तो उस पर लगने वाला बल
F = qE     समी. ①

अभी यदि +q आवेश के कण को चुंबकीय क्षेत्र B में v वेग से क्षेत्र के लंबवत प्रवेश कराया जाता है। तो उस पर लगने वाला बल
F = qBv     समी. ②
अब समी. ① व समी. ② से
F = F
qE = qBv
E = Bv
\footnotesize \boxed { v = \frac{E}{B} }     मीटर/सेकंड
यही विद्युत तथा चुंबकीय क्षेत्र के बीच संबंध होता है।

पढ़ें… 12वीं भौतिकी नोट्स | class 12 physics notes in hindi pdf

एकसमान चुंबकीय क्षेत्र के पाश (लूप) पर लगने वाले बल युग्म का आघूर्ण :-

माना एक आयताकार लूप PQRS एकसमान चुंबकीय क्षेत्र B में रखा गया है।
चूंकि हम जानते हैं। कि आयताकार वस्तु की आमने – सामने की भुजाएं बराबर होती है।
इसलिए ही PQ = RS = ℓ तथा QR = PS = b होंगी। तो इस आयताकार लूप की भुजा PQ व RS पर लगने वाला बल
F1 = F2 = iBℓsin90° = iBℓ

गतिमान आवेश तथा चुंबकत्व के नोट्स, Physics class 12 chapter 4 notes in hindi

ये बल बराबर तथा विपरीत है।
अतः यह लूप को चुंबकीय क्षेत्र में घुमाने का प्रयत्न करते हैं। तो इस प्रत्यानयन बल युग्म का आघूर्ण
τ = बल × लम्वबत् दूरी
τ = iBℓ × bsinθ
\footnotesize \boxed { τ = iBAsinθ }     न्यूटन-मीटर

यदि लूप के स्थान पर N फेरों वाली कुंडली प्रयोग की जाती है तो
\footnotesize \boxed { τ = NiBAsinθ }     न्यूटन-मीटर
जहां A = क्षेत्रफल (A = ℓ × b) है, B = चुंबकीय क्षेत्र तथा i = विद्युत धारा है।

गतिमान आवेश तथा चुंबकत्व objective Download PDF

Physics class 12th chapter 4 में बहुत टॉपिक ऐसे हैं। जिनको हमने इस अध्याय के अंतर्गत नहीं रखा है। उनको समझाने के लिए हमने अलग-अलग post तैयार की है। जिनके डारेट link आपको नीचे दिए गए हैं। जो अध्याय पढ़ना हो आप पढ़ सकते हैं। स्टूडेंट ध्यान दें – कि ज्यादा विस्तार से देखकर भाग मत जाना। कि इसने कितना ज्यादा लिखा है कहां तक पढ़े। याद रखना की किताब वही बेस्ट है। जिसमें पेज ज्यादा होते हैं शाॅर्ट में पढ़ने से आप बस पास हो सकते हैं। लेकिन उसे गहराई से समझ नहीं सकते। इसलिए सभी अध्याय को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

क्रम संख्याअध्याय का नाम
1लॉरेंज बल किसे कहते हैं
2चुंबकीय क्षेत्र की परिभाषा
3चुंबकीय क्षेत्र में धारावाही चालक पर बल
4बायो सेवर्ट नियम
5एंपीयर का परिपथीय नियम
6एंपीयर के परिपथीय नियम के अनुप्रयोग
7चुंबकशीलता तथा विद्युतशीलता में संबंध
8दो धारावाही समांतर चालक तारों के बीच चुंबकीय बल
9साइक्लोट्रॉन क्या है
10वृत्ताकार धारावाही कुंडली की अक्ष के अनुदिश चुंबकीय क्षेत्र
11चल कुंडली धारामापी क्या है
12धारामापी का अमीटर में रूपांतरण
13धारामापी का वोल्टमीटर में रूपांतरण
14चुंबकीय द्विध्रुव के कारण चुंबकीय क्षेत्र की तीव्रता
शेयर करें…

अन्य महत्वपूर्ण नोट्स


4 thoughts on “गतिमान आवेश तथा चुंबकत्व के नोट्स | Physics class 12 chapter 4 notes in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *